WHO चीफ ने वुहान में कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जांच पर बड़ा बयान देते कहा एक महीने की जांच के बाद जारी करेगा रिपोर्ट

WHO चीफ ने कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जांच पर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि अंतिम और सारांश रिपोर्ट चीन के वुहान शहर में एक महीने लंबी जांच के बाद एक ही वक्त में जारी की जाएगी.चीन में कोविड-19 महामारी की उत्पत्ति की जांच करनेवाली अंतरराष्ट्रीय टीम अपनी रिपोर्ट 15 मार्च के सप्ताह में प्रकाशित करेगी. विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने इस सिलसिले में जानकारी दी है. रिपोर्ट मूल से दो चरणों में प्रकशित होनेवाली थी; फरवरी में प्रारंभिक सारांश के बाद पूरा टेक्स्ट. WHO प्रमुख टेड्रोस अधानोम घेब्रियेसिस के मुताबिक, लेकिन, अब दोनों एक ही वक्त जारी की जाएंगी.

कोरोना वायरस की उत्पत्ती की जांच रिपोर्ट मार्च में

उन्होंने स्वास्थ्य एजेंसी के सदस्य देशों से संबोधन में कहा, “मैं जानता हूं बहुत सारे देशों की उत्सुकता रिपोर्ट देखने की है जिसे WHO की अगुवाई में कोरोना वायरस की उत्पत्ति पर रिसर्च किया गया है- और निश्चित रूप से मुझे भी है. टीम अपनी अंतिम रिपोर्ट पर काम कर रही है और साथ में प्रारंभिक सारांश पर भी, जिसे हम समझते हैं कि एक साथ 15 मार्च के सप्ताह में जारी कर दिया जाएग. मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि रिपोर्ट तैयार है, हम विशेषज्ञ टीम से रिपोर्ट को सदस्य देशों के साथ शेयर करने को उसके जारी करने से पहले, और जांच पर संक्षिप्त विवरण देने को कहेंगे.”

चीन के वुहान शहर में रहकर टीम ने की जांच

कोरोना वायरस का पहला मामला 2019 के दिसंबर में चीन शहर के वुहान में दर्ज किया गया था. वुहान में अंतरराष्ट्रीय टीम ने जांच 2021 के जनवरी में शुरू की और पिछले महीने समाप्त कर लिया. अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिकों की विशेषज्ञ टीन ने चार सप्ताह वुहान में रह कर शुरुआती मामलों से जुड़ी जगहों का मुआयना किया. विशेषज्ञों का मानना है कि बीमारी की उत्पत्ति चमगादड़ों से हुई और स्तनपायी जीवों से होते हुए इंसानों तक फैली. हालांकि, वैज्ञानिकों का मिशन वायरस के स्रोत को पहचान पाने में नाकाम रहा.

लेकिन, विशेषज्ञों ने चीन छोड़ने से पहले न्यूज कांफ्रेंस में इस थ्योरी को खारिज किया कि वायरस का रिसाव वुहान में विषाणु विज्ञान प्रयोगशाला से हुआ. टीम के जेनेवा वापसी पर तो ‘सभी परिकल्पनाएं खुल गईं.’ WHO प्रमुख ने बताया कि खुला पत्र लिखनेवाले एक लेखक ने नए सिरे से जांच की मांग की है और कहा है कि दुनिया कोविड-19 की उत्पत्ति को जानने के करीब नहीं है. पत्र में सवाल उठाता है कि WHO को कोविड-19 की उत्पत्ति के सभी थ्योरी को विस्तृत और ‘असीमित जांच करने के लिए’ आजादी, अधिकार या जरूरी पहुंच नहीं है.’

Total Views: 758 ,

Related posts

Leave a Comment