GST की बढ़ी दरों को वापस लेने व विदेशी ई-कामर्स कंपनी पर देशद्रोह का केस दर्ज करने हेतु प्रदर्शन

जगदलपुर ।बस्तर चेम्बर ऑफ़ कामर्स एंड इंड. द्वारा GST की बढ़ी दरों को वापस लेने की माँग व विदेशी ई-कामर्स कंपनी पर देशद्रोह का केस दर्ज करने की माँग हेतु प्रदर्शन किया गया।
24 नवम्बर, अपरान्ह 12 बजे गोल बाज़ार में बड़ी संख्या में एकत्रित होकर व्यापारियों ने अपनी माँगों के समर्थन में प्रदर्शन किया।
बस्तर चेम्बर अध्यक्ष किशोर पारख ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि पिछली GST काउन्सिल की बैठक में कपड़ों व जूतों पर GST की दर 5% से बढ़ाकर 12% कर दिया गया जो कि इस व्यापार पर अत्यधिक बोझ साबित होगा।
कृषि के बाद कपड़ा व्यवसाय ही सबसे बड़ा व्यवसाय है जिससे बड़ी मात्रा में राजस्व प्राप्ति होती है।
Kovid-19 की मार से कपड़ा व जूता व्यवसायी उबरने का प्रयास कर रहे हैं, ऐसे में टैक्स दर की वृद्धि व्यवसाय पर बुरा प्रभाव डालेगी।
सरकार को चाहिए कि इस वृद्धि को तत्काल वापस लेकर राहत प्रदान करे।
ई-कामर्स कम्पनी के बारे बस्तर चेम्बर का कहना है कि ये कंपनी कई देशद्रोही गतिविधियों में संलिप्त पाई गई है।सुरक्षा एजेंसीयों ने पुष्टि की है कि कश्मीर में प्रतिबंधित विष्फोटक की आपूर्ति इसी अमज़ोन कम्पनी के माध्यम से हुई थी जिसमें बड़ी संख्या में हमारे जवान शाहिद हुए थे।इसी तरह गाँजा जैसी नशीली वस्तुओं की भी इसके माध्यम से आपूर्ति हो रही है।इन्हीं राष्ट्र विरोधी कार्यों के कारण व्यापारी वर्ग यह माँग करता है कि इस कंपनी के विरुद्ध देशद्रोह का केस दर्ज कर कड़ी कार्यवाही की जाए।
गोल बाज़ार से रैली के रूप में व्यापारी कलेक्ट्रेट पहुँचे तथा संयुक्त कलेक्टर श्री ठाकुर को प्रधान मंत्री व वित्त मंत्री के नाम दो ज्ञापन सौंपे।
बस्तर चेम्बर की ओर से जानकारी दी गई है कि आज पूरे प्रदेश में व्यापारी वर्ग द्वारा विरोध प्रदर्शन, धरना व ज्ञापन सौंपने का कार्यक्रम है।
आगे की रणनीति राष्ट्रीय संगठनों से प्राप्त दिशा निर्देशों अनुसार तय की जाएगी।
आज के विरोध प्रदर्शन में बस्तर चेम्बर व जूनियर चेम्बर के पदाधिकारी, कपड़े व जूतों के व्यापारीयों सहित बड़ी संख्या में अन्य व्यापारीगण भी उपस्थित थे।

Total Views: 106 ,

Related posts

Leave a Comment