छत्तीसगढ़

मोदी के वादों का हिसाब न मांग ले इसलिये अमित शाह बुद्धिजीवी सम्मेलन में नहीं जा रहे- दीपक बैज

Spread the love

 

 

 

 

रायपुर/वरिष्ठ भाजपा नेता और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह छत्तीसगढ़ दौरे पर आ रहे है। अमित शाह ने अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों में से बुद्धिजीवी सम्मेलन में भाग लेने से मना कर दिया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं सांसद दीपक बैज ने कहा कि अमित शाह को इस बात का भय सता रहा कि बुद्धिजीवी लोग मोदी के 10 सालों के वायदों का हिसाब मांगेंगे तो उनके पास उसका कोई जवाब नहीं है, इसीलिये वे बुद्धिजीवी सम्मेलन में नहीं जा रहे। मोदी ने 10 सालों के कार्यकाल में अपने एक भी वादे को पूरा नहीं किया। 2014, 2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी और भाजपा देश की जनता से वायदा किया था-

1 100 दिन में महंगाई कम करेंगे।

2 हर के खाते में 15 लाख आयेंगे।

3 35 रू. लीटर में डीजल, पेट्रोल देंगे।

4 हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देंगे।

5 किसानों की आय 2022 तक दुगुनी करेंगे।

6 कृषि ऊपजों का समर्थन मूल्य लागत का डेढ़ गुना किया जायेगा।

7 विदेश से कालाधन लाया जायेगा।

8 100 स्मार्ट सिटी बनाया जायेगा।

9 सभी सांसद एक गांव को गोद लेकर उसको आधुनिक बनायेंगे।

10 2022 तक देश के हर आवासहीन का अपना मकान होगा।

 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं सांसद दीपक बैज ने कहा कि मोदी जी को सरकार चलाते 10 साल पूरे हो गये लेकिन मोदी जी ने अपने एक भी वायदे को पूरा नहीं किया। मोदी के दोनों कार्यकाल कोरी बयानबाजी और लक्षेदार भाषणों में निपट गया। अब भाजपा नेता मोदी के वादों पर बात करने से कतराते है। जहां पर मोदी सरकार के सालों के कामों का हिसाब मांगा जाता है तो भाजपाई कुतर्क करने लगते है जनता इस चुनाव में मोदी और भाजपा के एक-एक वादों का हिसाब लेगी।

 

 

Related Articles

Back to top button