खाद्य मंत्री से मिले संसदीय सचिव, कोसरंगी और अचानकपुर में धान खरीदी केंद्र खोलने किया ध्यानाकर्षित

Spread the love


महासमुंद। संसदीय सचिव व विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने खाद्य मंत्री अमरजीत भगत से मुलाकात कर क्षेत्र के कोसरंगी व अचानकपुर में धान खरीदी केंद्र खोलने ध्यानाकर्षित कराया। जिस पर उन्होंने इस दिशा में उचित पहल करने का आश्वासन दिया।
आज बुधवार को संसदीय सचिव श्री चंद्राकर ने खाद्य मंत्री श्री भगत से मुलाकात की। इस दौरान खाद्य मंत्री श्री भगत को संसदीय सचिव श्री चंद्राकर ने बताया कि कोसरंगी व अचानकपुर में धान खरीदी केंद्र खोलने के लिए ग्रामीण लगातार मांग कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि ग्राम कोसरंगी, सिड़गिड़ी, जामली, केशवा, गौरखेड़ा व उमरदा के किसानों को धान बेचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। वर्तमान में ग्रामीण सेवा सहकारी समिति झालखम्हरिया में धान बेचने जाना पड़ता है। यहां 14 गांवों के किसान धान बेचने आते हैं। लिहाजा धान बेचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। वहीं उमरदा-गौरखेड़ा के किसानों को करीब दस किमी दूरी तय कर धान बेचने आना पड़ता है। इसी तरह ग्राम अचानकपुर में पृथक से धान उपार्जन केंद्र खोले जाने की जरूरत है। आदिम जाति सेवा सहकारी समिति मर्यादित जलकी में अचानकपुर, खडउपार, बंदोरा, खिरसाली व फुसेराडीह के किसान धान विक्रय करते हैं। जलकी समिति उक्त गांवों से करीब 10-12 किमी दूर पड़ता है। अधिक दूरी के साथ ही हाथी प्रभावित क्षेत्र होने के कारण किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। लिहाजा अचानकपुर में नवीन धान उपार्जन केंद्र प्रारंभ करने की आवश्यकता है। जिस पर खाद्य मंत्री श्री भगत ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button