सत्येंद्र जैन के मनी लॉन्ड्रिंग में शामिल होने के पर्याप्त सबूत,ईडी की चार्जशीट से कोर्ट संतुष्ट

ईडी की चार्जशीट में आरोप लगाया गया है कि दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन और उनके सहयोगियों ने राजधानी में और उसके आसपास कृषि भूमि खरीदने के लिए हवाला की रकम का इस्तेमाल किया था।

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में फंसे दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendar Jain) की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही हैं। दिल्ली की एक अदालत ने शुक्रवार को कहा कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की चार्जशीट में जैन के खिलाफ प्रथम दृष्टया पर्याप्त सबूत हैं। चार्जशीट में आरोप लगाया गया है कि सत्येंद्र जैन और उनके सहयोगियों ने राजधानी में और उसके आसपास कृषि भूमि खरीदने के लिए हवाला की रकम का इस्तेमाल किया था।

स्पेशल जज गीतांजलि गोयल ने शुक्रवार को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सत्येंद्र जैन, उनकी पत्नी और चार फर्मों सहित आठ अन्य के खिलाफ ईडी द्वारा दायर चार्जशीट पर शुक्रवार को संज्ञान लिया। अदालत ने चार कंपनियों समेत उन सभी आरोपियों को भी तलब किया जो हिरासत में नहीं थे और मामले की सुनवाई आठ अगस्त को तय की है। सत्येंद्र जैन वस्तुतः मौजूद थे, जबकि अंकुश और वैभव जैन को न्यायिक हिरासत से पेश किया गया था।

अदालत ने ईडी को निर्देश दिया कि वह सत्येंद्र जैन, वैभव जैन और अंकुश जैन को चार्जशीट और अन्य संबंधित दस्तावेजों की एक-एक कॉपी उपलब्ध कराए। तीनों आरोपी वर्तमान में न्यायिक हिरासत में हैं।

Related posts

Leave a Comment