मंकीपॉक्स संक्रमण, रिसर्च में पाए गए नए लक्षण सेक्सुअल एक्टिविटी की वजह से फैल रहा है

भारत में मंकीपॉक्स का पहला मामला सामने आने के बाद से ही बड़ी चिंता पैदा हो गई है। इस मामले के बाद से ही कई एडवायजरी जारी हुई हैं और कई तरह के एक्शन लिए जा रहे हैं। लेटेस्ट रिसर्च की मानें तो ये 95 प्रतिशत संक्रमित सेक्सुअल एक्टिविटी के कारण बढ़ रहे हैं, जिसकी वजह से नया लक्षण सामने आया है। यहां देखें क्या कहती है रिपोर्ट-

क्या कहती है नई रिसर्च

अब तक के सबसे बड़े अध्ययन के अनुसार, मंकीपॉक्स के 95 प्रतिशत मामले सेक्सुअल एक्टिविटी के माध्यम से संचारित हो रहे हैं। रिपोर्ट की मानें तो एकल जननांग घावों जैसे नए क्लिनिकल साइन भी नोट किए गए हैं।
 

भारत के केरल में मिला पहला केस 

हाल की रिपोर्ट्स के अनुसार संयुक्त अरब अमीरात से लौटे एक व्यक्ति ने केरल में मंकीपॉक्स के लिए टेस्टिंग कराई थी, जिसमें उसे पॉजिटिव पाया गया। जिसके बाद प्रभावित व्यक्ति के प्राथमिक संपर्क की पहचान कर ली गई है, जिसमें उसके पिता, मां, एक टैक्सी चालक, एक ऑटो चालक और बगल की सीटों के 11 साथी यात्री शामिल हैं।

संदिग्ध मामले में लक्षण

पिछले 21 दिनों के भीतर प्रभावित देशों की यात्रा का इतिहास रखने वाले किसी भी उम्र के व्यक्ति को एक अजीब तरह के दाने और कई लक्षण दिखाई देते हैं। जिसमें सूजी हुई लसीका ग्रंथियां, बुखार, सिरदर्द, शरीर मैं दर्द, बहुत ज्यादा कमजोरी।रिपोर्ट की मानें तो मंकीपॉक्स किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क से फैलता है और पहली बार ये बंदरों में पाया गया था, ज्यादातर पश्चिम और मध्य अफ्रीका में होता है और केवल कभी-कभी कहीं और फैलता है।

Related posts

Leave a Comment