Train Accident: जलपाईगुड़ी में 12 बोगियां पटरी से उतरी बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस की; 4 यात्रियों की मौत, 20 घायल

Train Accident: पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी जिला के मैनागुड़ी में गुवाहाटी-बीकानेर एक्सप्रेस (15633) शाम के करीब पांच बजे पटरी से उतर गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस दुर्घटना में चार यात्रियों की मौत हो गई है। वहीं, 20 से अधिक घायल हो गए हैं। मौके पर राहत और बचाव अभियान चलाया जा रहा है। आपको बता दें कि मौके पर कई एम्बुलेंस घायलों को अस्पताल ले जाने के लिए पहुंची है। लोगों को गैस कटर का इस्तेमाल कर बाहर निकाला जा रहा है।

बीकानेर गुवाहाटी एक्सप्रेस में पटना से कुल 98 यात्री सवार हुए थे। पटना आरक्षण केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार एसी द्वितीय श्रेणी में कुल 2 यात्री एसी थर्ड में 10 यात्री सवार हुए थे। इसके अलावा स्लीपर बोगी में 33 और जेनरल बोगी में कुल 49 यात्री पटना जंक्शन से सवार हुए थे।

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव कल सुबह जलपाईगुड़ी के लिए रवाना होंगे। उन्होंने कहा कि पीएम को हादसे की जानकारी दी है। मैके पर अधिकारी और मेडिकल टीम मौजूद है।

नॉर्थ-ईस्ट फ्रंटियर रेलवे, गुवाहाटी की चीफ पीआरओ गुनीत कौर ने कहा, ”दुर्घटना शाम 5 बजे के आसपास डोमोहानी और न्यू मयनागुरी में हुई। करीब 10 कोच प्रभावित। मृतक के परिजनों को 5 लाख का मुआवजा दिया जाएगा। गंभीर रूप से घायलों को 1 लाख रुपये दिए जाएंगे। मामूली रूप से घायल होने पर 25,000 रुपये दिए जाएंगे। उच्च स्तरीय जांच के भी आदेश दिए गए हैं।”

इस दुर्घटना में एक और यात्री की मौत हो गई है। इसके साथ ही हादसे में मरने वालों की संख्या चार हो चुकी है।

रेल मंत्री ने भी घटना को लेकर दुख जाताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘एक दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना में बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस के 12 डिब्बे न्यू मयनागुरी (पश्चिम बंगाल) के पास आज शाम पटरी से उतर गई। त्वरित बचाव कार्यों के लिए व्यक्तिगत रूप से स्थिति की निगरानी कर रहे हैं।’ प्रधानमंत्री ने भी उनसे हादसे की पूरी जानकारी ली है।
बीकानेर-गुवाहाटी ट्रेन की एस-4 से लेकर एस-13 की बोगियां एक्सिडेंट के बाद पटरी से उतर गईं। आपको यह भी बता दें कि इस ट्रेन में कई यात्री पटना से भी सवार हुए थे।

रेलवे ने रेस्क्यू ट्रेन को मौके पर भेजा है। इस ट्रेन से मौके पर फंसे यात्रियों को जलपाईगुड़ी स्टेशन तक लाया जाएगा।

पटरी से उतरी बोगियों में करीब 1000 यात्री सवार थे। हादसे के बाद मौके पर अफरा-तफरी का माहौल हो गया था। फिलहाल 20 घायलों को नजदीक के अस्पताल में ले जाया गया।
हताहत होने की भी सूचना है। मैं ईश्वर से दिवंगतों की आत्मा को शांति, घायलों के स्वास्थ्य लाभ तथा परिजनों को धैर्य प्रदान करने की कामना करती हूं।”

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस ट्रेन की 12 बोगियां पटरी से उतर गई हैं। इनमें से तीन से चार कोच बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हुए हैं। इस ट्रेन में 1200 से अधिक यात्री सवार थे, जिनमें से करीब 700 यात्री राजस्थान में सवार हुए थे।

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन दिल्ली से घटनास्थल के लिए रवाना हुए हैं। उनके साथ डीजी सेफ्टी भी हैं। इस दुर्घटना की उच्च स्तरीय सुरक्षा जांच के आदेश दिए गए हैं। रेलवे के मुताबिक, 12 कोच प्रभावित हुए हैं। दुर्घटना राहत ट्रेन और मेडिकल वैन के साथ डीआरएम और एडीआरएम मौके पर पहुंच चुके हैं।

दुर्घटना की सूचना मिलते ही रेलवे पुलिस प्रशासन समेत जिले के आलाअधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं और राहत कार्य शुरू कर दिया है,इनमें से एक डिब्बा पानी में भी उतर गया है, जिसमें से फंसे यात्रियों को निकाला जा रहा है। वहां और पास के किसी भी स्टेशन पर कोई ठहराव नहीं था और ट्रेन इलाके से गुजर रही थी।

रात का समय हो जाने के कारण रेस्क्यू ऑपरेशन चलाने में दिक्कतें आ रही हैं। मौके पर सीआरपीएफ भी पहुंच रही है। एडीआरएफ की दो टीमें सिलिगुड़ी से जलपाईगुड़ी के लिए रवाना कर दी गई है।
शुरुआती तस्वीरों को देखने से लगता है कि यह बड़ी दुर्घटना है। रेलवे और बीएसएनएल ने यात्रियों की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए गए हैं। यात्री के परिजन 05034666 और 03564255190 पर फोन करके जानकारी ले सकते हैं।

Related posts

Leave a Comment