छत्तीसगढ़ के सिरगेल गोलीकांड में मारे गए किसानों अपमान और भेदभाव – अमित

मुख्यमंत्री बघेल के द्वारा उत्तरप्रदेश के मृतक किसान के परिवारों को 50-50 लाख दिए जाने के ऐलान के बाद अमित पांडे की कड़ी प्रतिक्रिया

छत्तीसगढ़ के बेरोजगार युवा पचास हजार लोन के लिए मोहताज

रायपुर6 अक्टूबर 2021। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के द्वारा उत्तर प्रदेश के लखीमपुर-खीरी के पास हिंसा में मारे गए किसान परिवारों को ₹ 50- ₹50 लाख रुपया देने की घोषणा के बाद छत्तीसगढ़ राज्य की एक मात्र क्षेत्रीय राजनीतिक दल जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे)के पूर्व विधानसभा प्रत्याशी अमित पांडे ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का यह ऐलान धान का कटोरा कहलाने वाला छत्तीसगढ़ के किसानों के साथ भेदभाव और अपमान है।अमित ने बघेल से सवाल पूछते हुए कहा आखिर क्या कारण है कि #बस्तर वनांचल के सिरगेल में गोलीकांड से मारे गए मृतक किसान परिवारों को श्री भूपेश बघेल की सरकार ने फूटी कौड़ी नहीं दी ? और वहीं उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में हिंसा होती है तो वहां के मृतक किसान परिवारों के लिए ₹50-₹50 लाख रूपया मुआवजा की घोषणा की जाती है ? जबकि उत्तरप्रदेश की योगी सरकार ने मृतक किसान परिवारों को ₹45-₹45 लाख रुपया देने की घोषणा कर चुकी है। अमित ने कहा सच्चाई यह है कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी छत्तीसगढ़ की जनता के पैसे को अपनी कुर्शी बचाने के लिए एवं कांग्रेस आलाकमान श्री राहुल गांधी और श्रीमती प्रियंका गांधी के सामने अपना नंबर बढ़ाने के लिए #उत्तरप्रदेश के मृतक किसानों के लिए अपना खजाना खोल दिया और छत्तीसगढ़ के किसानों का नंबर कम किया हैं। अपने अलाकमान को खुश करने के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का यह ऐलान सीधे तौर पर छत्तीसगढ़ के लाखों किसानों के साथ अपमान, भेदभाव और उनको चिढ़ाने जैसा हैं। जिसका खामियाजा आने वाले चुनाव में कांग्रेस पार्टी को भुगतना पड़ेगा। उन्होंने कहा कांग्रेस पार्टी किसानों के नाम पर सिर्फ वोट की राजनीति करती है अवसर का फायदा उठाने के लिए दांव लगाती है। छत्तीसगढ़ में भी किसानों के लिए लुभावना जनघोषणा पत्र बनाकर वोट की राजनीति करते हुए सत्तासीन हुई है पर जब किसानों के हक और अधिकार की बात आती है, सिरगेल जैसे गोलीकांड की घटना होती है तब सरकार अपना मुँह फेर लेती है।*

Related posts

Leave a Comment