हाता ग्राउंड जीर्णोद्धार में घोर लापरवाही … पूर्व पार्षद उमा मिश्रा ने दिया ज्ञापन

जगदलपुर ।प्रतापदेव वार्ड की पूर्व पार्षद श्रीमती उमा मिश्रा जी ने क्षेत्र के पूर्व विधायक श्री संतोष बाफना जी को ज्ञापन देकर मैदान के जीर्णोद्धार कार्य में ठेकेदार के द्वारा बरती जा रही घोर लापरवाही से उन्हें अवगत कराते हुए संबंधित विषय से जिला प्रशासन का ध्यानाकर्षित कराने का निवेदन किया है। जिस पर पूर्व विधायक श्री बाफना ने जिला कलेक्टर को पत्र लिखकर इस प्रकार की लापरवाही पर अंकुश लगाने के लिए एक बार दोनों मैदानों का निरीक्षण स्वयं करने का आग्रह किया है। और कहा है कि, मैदान के जीर्णोद्धार कार्य में विभागीय जिम्मेवारों की उदासीनता और उनके गैरजिम्मेदाराना रवैये के चलते ही संबंधित ठेकेदार के द्वारा सभी नियमों को ताक में रखकर खुलेआम अनियमितताओं को अंजाम देने का काम हो रहा है। और यदि इसी प्रकार से सारे निर्माण कार्य किये गए तो मैदानों का बदहाली की अवस्था में पहुॅचने में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा।

बता दें कि, पूर्व विधायक श्री बाफना जी ने अपने पत्र में मैदान में चल रहे मनमाने ढंग से नियमों व स्टीमेट के विपरीत घटिया स्तर का कार्य कराया जा रहा है उन स्तरहीन कार्यों को इंगित करते हुए लिखा है कि,

1. हाता ग्राउण्ड के चारों ओर की बाउण्ड्रीवाॅल जो कि वर्षों पुरानी है और काफी जर्जर भी हो चुकी थी। बाउण्ड्रीवाॅल का नए सिरे से निर्माण किया जाना छोड़कर केवल दो तरफ की दीवारों का निर्माण करके बाकी की दीवारों का रंग-रोगन करके खानापूर्ति की गई, जो कि नियमों की खुलेआम अनदेखी है।

2. इसके अलावा पुरानी दीवारों पर ही लोहे के बड़े-बड़े एंगल उसमें लगा दिये गए, जबकि लम्बे समय तक पुरानी दीवारें लोहे के एंगल का भार झेलने में सक्षम ही नहीं है।

3. अब रहीं मैदान की बात, तो कायदे से मैदान के लेवल को सबसे पहले ऊंचा किया जाना चाहिए था ताकि बरसात के दौरान पानी का ठहराव मैदान में न हो और पानी की निकासी मैदान के अंदर जो नालियाॅ बनाई गई है उनके जरिए सुगम तरीके से संभव हो सके। परंतु मैदान का लेवल जस का तस ही रखा गया। जिसका खामियाजा बरसात के दिनों में पुनः खिलाड़ियों को ही भुगतना पड़ेगा। क्योंकि बरसात के दिनों में मैदान तो तालाब में तब्दील हो जाया करेंगे।

4. मैदान के चारों तरफ दर्शकों के बैठने के लिए बनाई गई गैलरी अभी से ही उखड़नी भी चालू हो चुकी है। इस पर भी अब तक मैदान का निरीक्षण करने वाले अधिकारियों का बिल्कुल भी ध्यान नहीं गया है।

श्री बाफना ने आगे कहा है कि, जगदलपुर क्षेत्र के युवाओं में खेलकूद को बढ़ावा देने एवं प्रतिभाओं में निखार लाने के उद्देश्य से भाजपा शासनकाल के दौरान वित्तीय वर्ष 2015-16 में हाता क्रिकेट ग्राउण्ड के लिए 76 लाख एवं सिटी फुटबाल व हाॅकी ग्राउण्ड के लिए 04 करोड़ रूपए की लागत से होने वाले जीर्णोद्धार कार्य स्वीकृत किये गए थे किन्तु राज्य में नई सरकार के गठन के बाद शहर के दोनों ही मैदान में चल रहे जीर्णोद्धार कार्य अब लापरवाही की भेंट चढ़ते जा रहे हैं। कार्य प्रारंभ होने के लगभग वर्ष भर से ज्यादा का समय बितने के बाद भी दोनों ही मैदान को संवारने के काम अब तक अधूरे ही पड़े हुए हैं। जिसका खामियाजा भी खेल में भविष्य निर्माण का सपना पाले बैठी क्षेत्र की युवा पीढ़ी को ही भुगतना पड़ रहा है और खेल मैदान के अभाव में जगदलपुर की बहुमुखी खेल प्रतिभाएं दिनों-दिन कुंठित हो रही हैं।

Related posts

Leave a Comment