बस्तर जिले के शिक्षा विभागीय फर्जी भर्ती पर सरकार द्वारा डी ई ओ के निलंबन की कार्यवाही स्वागत योग्य कदम-मुक्तिमोर्चा

 

नियम विरुद्ध पदों में भर्ती को लेकर मुक्तिमोर्चा एवं सयुक्त मोर्चा वअजाक्स संगठनों ने बस्तर कमिश्नर के समक्ष कार्यवाही की रखी थी मांग

मुक्तिमोर्चा ने कहा विधानसभा ध्यान आकर्षण ,उच्च न्ययालय में दाखिल याचिका के बाद ,सरकार ने की कार्यवाही कीजगदलपुर ।बस्तर अधिकार मुक्तिमोर्चा के जिला सयोंजक भरत कश्यप ने बयान जारी करते हुए कहा कि जिले के शिक्षा विभाग में नियम विरुद्ध हुई भर्तियो व अनुकम्पा नियुक्तियों पर कमिश्रर बस्तर को की गई शिकायतों के आधार पर हुई जांच के उपरांत ,वर्षों बाद सरकार द्वारा तात्कालिक डी ई ओ राजेन्द्र झा के निलंबन की कार्यवाही को सही कदम बताते हुए इस फैसले को सरकार का भ्र्ष्टाचार के खिलाफ बस्तर में पहला मजबूत कदम बताते हुए इस कदम का स्वागत करते हुए कहा कि यह कार्यवाही बस्तर के हजारों बेरोजगारो के अंदर न्याय की उमीद जगाएगी व संविधान पर भरोषा बढ़ाएगी। इस लड़ाई में मुख्य रूप से कमर्चारियों के संघटन अजाक्स ,सयुक्त मोर्चा व बस्तर अधिकार मुक्तिमोर्चा का अहम रोल था। जिसने बस्तर के बेरोजगारो के अवसरों से हो रहे खिलवाड़ के खिलाफ एक बड़ी लड़ाई इन भ्र्ष्टाचार में लिप्त अधिकारियों की सरकारी नियमो से खिलवाड़ की मनमानी से लड़ी है। देश के राष्ट्र पिता महात्मा गांधी जी ने कहा है। सत्य परेशान हो सकता है। पर पराजित नही , इस का यह जीता जगाता उदाहरण यह घटना है। वर्षों की लड़ाई के बाद न्यायलय की शरण व विधानसभा के ध्यान आकर्षण प्रश्न के बाद सरकार की आँख खुली है। वह यह निलबंन की कार्यवाही हुई है। किये गए अपराध के खिलाफ यह एक छोटी सजा है। बस्तर अधिकार मुक्तिमोर्चा व अन्य संघटन सरकार से मांग करता है। कि इस नियम विरुद्ध कृत्य के लिए सम्बंधित अधिकारी व कर्मचारियों के खिलाफ आपराधिक मामला पंजीबद्ध हो कार्यवाही की जानी चाहिए। वह जिन मासूमो की नोकरी इन अधिकारियों की गलती की वजह से मुसीबत में आई है। उस पर शाहनुभूति पूर्वक फैसले ले उनके भविष्य को सुरक्षित रखे। वह कई वर्षों से बस्तर के शिक्षा विभाग में शिक्षा महाफिया बन चुके मठाधीश कर्मचारियो पर कार्यवाही व तबादले किये जायें ताकि बस्तर की शिक्षा व्यवस्था मजबूत हो सके।

Related posts

Leave a Comment