आयकर विभाग की सबसे बड़ी कार्रवाई – चार राज्यों के 60 ठिकानों पर एक साथ छापेमारी

700 करोड़ रुपये से अधिक की चोरी का खुलासा

 नईदिल्ली, आयकर विभाग ने 700 करोड़ रुपये से अधिक की चोरी का पता लगाया है. साथ ही 23 करोड़ रुपये की बेहिसाब नकदी भी बरामद की है. वहीं, फिक्स्ड डिपॉजिट के रूप में 110 करोड़ रुपये की विदेशी संपत्ति का पता लगाया है. यह जानकारी केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने दी है. सीबीडीटी ने बताया है कि आयकर विभाग ने कथित चोरी को लेकर चेन्नई में संचालित एक प्रमुख व्यापारिक समूह के परिसर में नौ दिसंबर को खोज और जब्ती अभियान चलाया. यह छापेमारी तमिलनाडु के चेन्नई, त्रिची, कोयंबटूर और आंध्र प्रदेश, कर्नाटक व मुंबई स्थित 60 परिसरों में की गयी

 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आयकर विभाग ने चेट्टिनाड कंपनी समूह के ठिकानों पर छापेमारी के बाद 700 करोड़ की चोरी का मामला उजागर किया है. हालांकि, आयकर विभाग की ओर से कंपनी के नाम का खुलासा नहीं किया गया है.बताया जाता है कि आयकर विभाग ने कंपनी द्वारा अघोषित स्थायी जमा को कालाधन कानून के तहत आने के कारण कार्रवाई की है. सीबीडीटी का कहना है कि कंपनी ने खर्च अधिक दिखा कर लाभ कम दिखा कर ज्यादा मात्रा में राशि जमा की है.

 

जानकारी के मुताबिक, कंपनी के खातों का रखरखाव भी सही नहीं मिला है. कंपनी ने 435 करोड़ रुपये का फर्जी नुकसान भी दिखाया है. यह नुकसान संपत्तियों के अवमूल्यन के रूप में दिखाया गया है.विभाग को विभिन्न बंदरगाहों पर कंपनी के तीन आधारभूत सुविधाओं के विक्रय सौदे का भी पता चला हे. आयकर बचाने के लिए कंपनी ने सौदे में हेराफेरी कर पूंजीगत लाभ में कमी दिखायी है. इस तरह करीब 280 करोड़ रुपये पूंजीगत लाभ खातों में कम दर्शाया गया है.

Related posts

Leave a Comment