किसानों की जमीन हथियाकर लैंड बैंक बनाने की तैयारी में है सरकार-राकेश टिकैत

बाबा टिकैत ने किसान क्रेडिट कार्ड को किसान की मौत का कार्ड बताया था। आज देश में यही हालात हैं। सरकार किसान को फसल का पूरा पैसा दे नहीं रही और किसान को कर्ज में डुबा रही है। यह सब सरकार की योजना है। सरकार आने वाले समय में लैंड बैंक बनाना चाहती है, जो किसान कर्ज नहीं लौटा पाएगा उसकी जमीन लेकर कर्ज खत्म किया जाएगा। यह कहना है भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत का।

 

शनिवार को पैदल मार्च के बाद दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर आयोजित सभा में राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार हर बार स्कीम लाकर कहती है कि कर्ज ले लो किसान को फायदा होगा। इसके तहत ही केसीसी सरकार लाई थी। उस वक्त बाबा महेंद्र सिंह टिकैत ने इस कार्ड को किसान की मौत का कार्ड बताया था। आज यही हालात देश में हैं। किसान क्रेडिट कार्ड में संशोधन कराने की बात करता है तो सरकार सुनती नहीं है। किसान सरकार को 300 प्रतिशत से ज्यादा ब्याज दे रहा है। आने वाले समय में सरकार किसानों से यह कह दे कि बैंक का पैसा लौटा दो तो किसी किसान की हैसियत नहीं कि वह रुपया लौटा दे। ऐसे में ही सरकार अब नई पॉलिसी बना रही है। लैंड बैंक बनाने की तैयारी कर रही है। यह सरकार के आने वाले समय का प्लान है। इसके जरिये सरकार किसानों की जमीन हथियाना चाहती है।
कर्ज नहीं, अपनी फसल की कीमत चाहिए राकेश टिकैत का कहना है कि सरकार कर्ज माफी की जगह किसान को कर्ज दे रही है। अभी सरकार ने किसानों के लिए करीब 10 लाख करोड़ रुपये का कर्ज देने की व्यवस्था की। इस पर हमने कहा कि किसान को कर्ज नहीं चाहिए। किसान को अपने फसल की कीमत चाहिए। एक एक साल में सरकार हमारी फसल की कीमत देती है

Related posts

Leave a Comment