भारत बंद में रायपुर को बंद कराने सबसे पहले विधायक विकास उपाध्याय सुबह 5ः00 बजे से सैंकड़ों साथियों के साथ सड़क पर उतरे

 

 

रायपुर। विधायक एवं संसदीय सचिव विकास उपाध्याय किसानों के समर्थन में भारत बंद को लेकर आज सुबह 5ः30 बजे से ही सबसे पहले अपने साथियों के साथ सुबह-सुबह खुलने वाले दुकानों को बंद कराने निकल पड़े। इस बीच उन्होंने विनम्रता पूर्वक लोगों से गुजारिश की कि वे एक दिन किसानों के नाम अपना व्यवसाय एवं दुकान बंद रखकर किसानों का समर्थन करें। विकास उपाध्याय ने कहा छ.ग. सहित पूरे देश में किसानों के समर्थन में भारत बंद का खासा असर देखा जा रहा है। इससे यह साबित हो गया है कि नये तीन कृषि कानून का विरोध ही नहीं बल्कि यह आम जनता का मोदी सरकार के खिलाफ भाजपा का विरोध भी है।

वैसे तो कांग्रेस के हर एजेंडे को अनुसरण करने वाले नेताओं में विकास उपाध्याय का नाम सबसे पहले आता है उसी तरह आज भी वे सुबह-सुबह अपने सैंकड़ों साथियों के साथ उन सभी स्थानों में भारत बंद को सफल कराने पहुंच गए जब कोई नेता घर से निकला ही नहीं था। सबसे पहले वे रेल्वे स्टेशन की ओर रूख किया जहाँ छोटे-छोटे गुमटी एवं पान ठेला सुबह 4ः00 बजे से ही खुल जाते हैं। विधायक इन दुकान वालों को हांथ जोड़कर विनम्रता पूर्वक आग्रह किया कि वे अन्न दाता किसानों के नाम अपना व्यवसाय एक दिन बंद रखें। इसके बाद वे सैंकड़ों की संख्या में अपने साथियों के साथ पूरे राजधानी के इस छोर से लेकर उस छोर तक पहले क्रम में दौरा कर लिए जब तक कांग्रेस के अन्य नेता बंद कराने को लेकर जयस्तंभ चैंक नहीं पहुंच गये। सुबह सबसे पहले विकास उपाध्याय स्टेशन चैंक के बाद फाफाडीह, डब्ल्यू.आर.एस., खमतराई से गुढ़ियारी क्षेत्र फिर टाटीबंध, कोटा, आमानाका से होते हुए लाखेनगर, पुरानी बस्ती, सिटी कोतवाली, कालीबाड़ी, पचपेड़ी नाका, तेलीबांधा सहित सभी प्रमुख चैंक चैराहों में जाकर लोगों से दुकानें बंद करने का निवेदन करते रहे। इसके पश्चात् वे प्रदेश अध्यक्ष मरकाम के नेतृत्व में खुद ट्रैक्टर चलाकर विरोध प्रदर्शन किया।

 

  • विकास उपाध्याय ने कहा किसानों के समर्थन में आज पूरे देश में 24 राजनैतिक पार्टीयों के अलावा विश्व में कई देश के प्रमुखों के साथ ही देश भर के विभिन्न व्यापारिक एवं मजदूर संगठनों ने समर्थन देकर साबित कर दिया है कि नरेन्द्र मोदी की सरकार झूठी है। उन्होंने कहा आज का भारत बंद मोदी सरकार के लिए एक आहट है, अब भी यह सरकार नहीं जागी तो उसके हर षड़यंत्र और दमनकारी नीतियों के खिलाफ जनविरोधी आंदोलन की शुरूआत हो जाएगी। मोदी अपने पूरे शासनकाल में मीडिया के एक वर्ग विशेष को ढाल बनाकर सरकार का पक्ष रखने मजबूर कर रहा है और किसानों के आंदोलन के बारे में आधारहीन नकारात्मक खबरें प्रसारित कराकर इस आंदोलन को कमजोर करने की कोशिश कर रहा है। विकास उपाध्याय ने कहा सिंधु बाॅर्डर पर दिल्ली को हरियाणा और उत्तरप्रदेश से जोड़ने वाले राजमार्गों पर किसानों का यह आंदोलन अब पूरे देश के घर-घर तक जुड़ गया है। उन्होंने राजधानी समेत पूरे छत्तीसगढ़ की जनता को धन्यवाद ज्ञापित किया है कि वे देश के किसानों के हित में आज के आंदोलन को सफल बनाने उनका समर्थन कर रहे हैं।

 

Related posts

Leave a Comment