राजधानी रायपुर के भ्रष्टाचार सहित कई गंभीर आरोपों से घिरे – पूर्व IAS बाबूलाल अग्रवाल की 27 करोड़ से ज्यादा की प्रापर्टी ED ने की जब्त

रायपुर, पूर्व IAS बीएल अग्रवाल की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही है। गिरफ्तारी के बाद ED ने और 27.86 करोड़ की संपत्ति अटैच कर ली है। इससे पहले भी ईडी ने पूर्व IAS की 35.49 करोड़ की संपत्ति जब्त की थी। भ्रष्टाचार के मामले में ईडी ने इसी महीने 9 नवंबर को पूर्व IAS बाबूलाल अग्रवाल को रायपुर से गिरफ्तार किया था, जिसके बाद उन्हें 5 दिसंबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। बाबूलाल अग्रवाल के प्लांट, मशीन, बैंक बैलेंस व फैमली मेंबर की भी संपत्ति को ईडी ने अटैच किया है।

भ्रष्टाचार, फर्जी तरीके से ब्लैक मनी को व्हाईट मनी बनाने, सीबीआई को घूस देने, आय से अधिक संपत्ति मामले सहित कई अन्य आरोपों में घिरे बाबूलाल अग्रवाल एक दर्जन से ज्यादा धाराओं पर अलग-अलग केस रजिस्टर्ड हैं। इस मामले में ईडी का शिकंजा सिर्फ पूर्व आईएएस बाबूलाल अग्रवाल पर ही नहीं कसा है, बल्कि उनके सीए सुनील अग्रवाल और उनके भाई अशोक अग्रवाल, पवन अग्रवाल पर भी गंभीर आरोप है।

आरोय है कि खरोरा के 400 ग्रामीणों के नाम पर फर्जी तरीके से खाते खोलवाकर उनमें पैसे जमा कराये गये ताकि भ्रष्टाचार की कमाई को व्हाईट मनी बनाया जा सके। 13 फर्जी कंपनियां भी खोलकर पैसे के वारे-न्यारे किये गये। इस बार जो 27 करोड़ से ज्यादा की संप्ति अटैच की गयी है। उनमें 26 करोड़ 16 लाख रुपये प्लांट और मशीनरी, 20 लाख से ज्यादा रूपये 291 बैंक खाते के हैं सहित अन्य अलग-अलग एकांउट और जमीन को जब्त किया गया है।

Related posts

Leave a Comment