सड़क सुरक्षा के संबंध में लोक निर्माण विभाग के इंजीनियरों का आनलाईन प्रशिक्षण शुरू, लोक निर्माण मंत्री ने सभी 1200 इंजीनियरों को प्रशिक्षित करने का दिया लक्ष्य

 

रायपुर/उच्चतम न्यायालय द्वारा गठित सड़क सुरक्षा समिति के निर्देशानुसार लोक निर्माण विभाग के सभी इंजीनियरों को सड़क सुरक्षा के संबंध में प्रशिक्षण देने के लिए 25 नवम्बर से 28 नवम्बर तक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया है। यह प्रशिक्षण सेन्ट्रल रोड़ रिसर्च इंस्टीट्यूट (सी.आर.आर.आई.) नई दिल्ली के सहयोग से आॅनलाइन प्रदान किया जा रहा है।
छत्तीसगढ़ राज्य सड़क सुरक्षा परिषद के सदस्य लोक निर्माण मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने विभाग के सभी 1200 इंजीनियरों को प्रशिक्षण प्रदान करने का लक्ष्य दिया है। प्रदेश में लगभग 1200 इंजीनियर पदस्थ है इनमें उप अभियंता स्तर के 900 एवं सहायक अभियंता तथा इसके ऊपर स्तर के 300 इंजीनियर है। विभाग द्वारा वर्ष 2017 से 2019 तक लगभग 500 इंजीनियरों को प्रशिक्षण दिया गया है। यह प्रशिक्षण रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर एवं अम्बिकापुर में अलग-अलग समय पर आयोजित किए गए हैं। वर्ष 2020 में शेष इंजीनियरों के प्रशिक्षण का लक्ष्य रखा गया है।

कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए पारम्परिक रूप से प्रशिक्षण संभव नहीं है इसलिए आॅनलाइन प्रशिक्षण का विकल्प अपनाते हुए सी.आर.आर.आई नई दिल्ली के सहयोग से सहायक अभियंता, अनुविभागीय अधिकारी, कार्यपालन अभियंता, अधीक्षण अभियंता एवं मुख्य अभियंताओं के लिए दो दिवसीय (4 आॅनलाइन सत्र) और उप अभियंताओं के लिए 05 दिवसीय (8 आॅनलाइन सत्र) का प्रशिक्षण प्रस्तावित किया गया है।
लोक निर्माण विभाग द्वारा सहायक अभियंता एवं उच्च स्तर के अधिकारियों के लिए 25 नवंबर से 28 नवंबर तक आॅनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया है। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में 200 सहायक अभियंता एवं उच्च स्तर के 100 अभियंताओं को प्रशिक्षण देने का लक्ष्य रखा गया है। प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत 26 नवंबर को शाम 4 बजे डाॅ. एस. वेलमुुरूगन ‘इंटरोडक्शन टू रोड सेफ्टी आॅडिट अप्रोच एंड मेथोडोलाॅजी’ के बारे में और शाम 5 बजे डाॅ. ए. मोहन राव ‘रोड साइन’ के बारे में बताएंगे।
27 नवंबर को दोपहर 2.30 बजे डाॅ. जे. नटराजू ‘डिजाइन स्टेज रोड सेफ्टी आॅडिट, चेक लिस्ट एंड केस स्टडी’ के बारे में और शाम 4 बजे डाॅ. एस. वेलमुरूगन ‘कंस्ट्रक्शन स्टेज रोड सेफ्टी आॅडिट, चेक लिस्ट एंड केस स्टडी’ के बारे में तथा डाॅ. काइथा रविन्द्र ‘प्री-ओपनिंग स्टेज रोड आॅडिट, चेक लिस्ट एंड केस स्टडी’ के बारे में प्रशिक्षण देंगे। 28 नवंबर को डाॅ. इरामपल्ली मधु दोपहर 2.30 बजे ‘एक्जिट स्टेज आरएसए (ओ एंड एम स्टेज) चेक लिस्ट एंड केस स्टडी’ के बारे में और शाम 4 बजे ‘स्पीड एंड हजार्ड मैनेजमेंट’ के बारे में प्रशिक्षण देंगे। शाम 5 बजे डाॅ. जे. नटराजू ‘हूमन फैक्टर्स इन रोड सेफ्टी, सेफ्टी इशूस इन इंडिया एंड सेफ्टी नीड्स आॅफ डिफरेंट रोड यूजर’ के बारे में प्रशिक्षण देंगे।

Related posts

Leave a Comment