सरकारे छत्तीसगढ़(सैय्यद शेर अली आगा ) का उर्स 8 से 12 दिसंबर तक, इस साल कोरोना के कारण नहीं होगा उर्स … रसमी उर्स होगा

रायपुर। हर साल की तरह इससाल  भी बंजारी वाले बाबा का उर्स शरीफ का आयोजन किया जा रहा है। हजरत सैय्यद शेर अली आगा (बंजारी वाले बाबा) के सज्जादा नशीन मोहम्मद नईम रिजवी असरफी ने बताया कि इस साल कोविड 19 को देखते हुए ट्रस्ट ने यह निर्णय लिया है कि इस साल बाबा साहब का उर्स बहुत ही सादगी के साथ मनाया जावेगा। कोविड 19 कोराना महामारी को देखते हुऐ। जो हर साल मेला भरता था। वह इस साल नहीं भरेगा व जो दुकाने हर साल दरगाह के सामने व गेट के आजू बाजू लगती थी। वह भी इस साल कोरोना महामारी को देखते हुए नहीं लगेगी। ताकि दरगाह शरीफ में आने वाले किसी भी श्रद्धालुओं को शोशल डिस्टेंसिंग व कोविड 19 कि गाईड लाईन का पालन करने में किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो।

 

 

सज्जादा नशीन मोहम्मद नईम रिजवी ने तमाम लोगों से गुजारिश कि है कि इस साल कोविड 19 के चलते कोई भी अपने मोहल्ले से संदल व चादर न निकाले व अपने-अपने घरों व मोहल्ले में लंगर व फातिया करें। उन्होने सभी लोगों से गुजारिश है कि जो भी लोग दरगाह शरिफ जियारत के लिये आये। तो वह मास्क लगाकर आये व शोशल डिस्टेंसिंग कोविड 19 के गाईड लाईन का पालन करें।

 

9 दिसम्बर तकरीर उलमाए किराम

10 दिसम्बर आल इंडिया नातिया मुशायरा

11 दिसम्बर तकरीर उलमाए किराम

12 दिसम्बर सुबह 7:35 पर कुल शरीफ की फातिया व दुआ होगी। जिसमें तमाम लोगों के लिये दुआएँ कि जायेगा देश व प्रदेश कि उन्नति व सुख शांति के लिये व कोराना(कोविड 19) महामारी को पूरे देश व प्रदेश से निजाद के लिये खास दुआ कि जायेगी।

Related posts

Leave a Comment