छठ पर्व पर श्रद्धालुओं के लिए इस तालाब के दिन फिरे , हो रही साफ-सफाई

.. गंगा मुंडा तालाब की बदली तस्वीर ..अब तकदीर भी बदले..

 

 

जगदलपुर ।गंगा मुंडा तालाब में इन दिनों रौनक देखने को मिल रही और हो भी क्यों ना लंबे समय बाद सुध लेने वाले जिम्मेदार लोगों ने वहां का रुख किया है अब तालाब की साफ सफाई हो रही है सीढ़ियों की मरम्मत भी रही है तालाब के अंदर से कचरों को निकाला जा रहा है सीढ़ियों में सफाई लगातार चल ही रहे हैं कोशिश है कि छठ पर्व पर किसी तरह की शिकायतें ना हो। विदित हो कि यह वही तालाब है जो लगातार उपेक्षा और बदहाली के चलते अपनी अस्मिता को कायम रखने जूझ रहा । हर बरस छठ आने पर इस तरह की साफ सफाई की जाती है परंतु यह नियमित स्वरूप नहीं ले पाता यही कारण है कि इस सफाई से पहले तलाब की दुर्दशा की खबरें लगातार सुर्खियों पर रही । पर अब देखना है कि हमेशा की तरह इस बार भी इस पर्व के बाद उसे उसके हाल पर छोड़ दिया जाएगा या फिर तालाब की तस्वीर और तकदीर बदलेगी।

 

दो नाव..

 

यहां दो नाव जर्जर अवस्था में है जिन की दुर्दशा देखकर समझा जा सकता है की देखरेख में लापरवाही होती रही है अगर इसे बेहतर अवस्था में रखा जाता तो सफाई के साथ अन्य योजनाओं के लिए इसका बेहतर प्रयोग हो सकता था ऐसे में इसका नियमित रखरखाव भी संभव था परंतु किसी योजना में शामिल करने की बात तो दूर इसकी सुध लेने वाला भी कोई नहीं है।

 

 

जर्जर शिव मंदिर …

 

गंगा मुंडा तालाब के किनारे गंगा नगर वार्ड की ओर जाने वाले रास्ते पर दशकों पुराना शिव मंदिर जर्जर अवस्था में है जिसका सूट लेने वाला कोई नहीं है अब देखना यह है कि इस छठ के अवसर पर जब इस मंदिर के आसपास जिम्मेदार जनप्रतिनिधि नेताओं के साउथ प्रशासनिक अधिकारियों की आवाज आई होगी ईश्वर जाता है कि नहीं यह थी छठ की तैयारियों में के हार को गले में पहन कर हमेशा की तरह इस बार भी चुपके से अपनी जिम्मेदारियों से मुंह मोड़ अपने रास्ते हो लेंगे ,।

Related posts

Leave a Comment