किसानों के धान को 1865 रू. की दर से ही खरीदने दबाव बनाने वाले अब पूछ रहे है 2500 रू. कैसे मिलेगा-धनंजय सिंह ठाकुर

 

 

पूर्व मंत्री एवं भाजपा प्रवक्ता राजेश मूणत के बयान पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया

 

किसानों के धान को 1865 रू. की दर से ही खरीदने दबाव बनाने वाले अब पूछ रहे है 2500 रू. कैसे मिलेगा-कांग्रेस

 

रायपुर/05 नवंबर 2020। पूर्व मंत्री भाजपा प्रवक्ता राजेश मूणत के बयान पर कांग्रेस ने प्रतिक्रिया व्यक्त की। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने किसानों के धान को जब 2500 रू. प्रति क्विंटल की दर पर खरीदी क़ी और 2500रू. प्रति क्विंटल के हिसाब से किसानों के खाता में सीधा भुगतान किया तब भाजपा नेताओं के पेट मे दर्द क्यो हो रहा था? छत्तीसगढ़ भाजपा के नेताओ ने तो ही किसान विरोधी षड्यंत्र रचकर मोदी सरकार से किसानों की धान का समर्थन मूल्य 1865 रू. में ही धान खरीदी करने दबाव बनवाया। किसानों को समर्थन मूल्य के अलावा अतिरिक्त राशि का सीधा भुगतान करने पर रोक लगवाई। किसानों को बोनस देने पर छत्तीसगढ़ से सेंट्रल पुल में चावल नही लेने की चेतावनी दी थी। सेंट्रल पूल में चावल लेने नियम शर्ते थोपे गये थे। आज वही भाजपा के नेता पूछ रहे हैं, किसानों को धान की कीमत 2500 रू. कैसे मिलेगा?

 

 

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि पूर्व मंत्री एवं भाजपा प्रवक्ता राजेश मूणत को किसानों को धान की कीमत 2500रू. कैसे मिलेगी यह सवाल पूछने का अधिकार ही नही है? भाजपा की केंद्र सरकार बीते 7 साल से किसान विरोधी कृत्यों में ही लगी हुई है जिस प्रकार से तीन काला कानून बनाकर किसानों को पूंजीपतियों का गुलाम बनाने की साजिश रची गई है। एक राष्ट्र एक बाजार का नारा लगाने वाली मोदी सरकार किसानों को उपज का समर्थन मूल्य मिले इसकी गारंटी नहीं दे पा रही है। एक राष्ट्र एक बाजार का नारा लगाने वाली मोदी सरकार एक दर देने से भाग रही है। अतिआवश्यक वस्तु अधिनियम में संशोधन कर जमाखोरी, कालाबाजारी का सरकारीकरण कर दिया गया। पूंजीपतियों को आम उपभोक्ताओं, किसानों, मजदूरों को लूटने का लायसेंस दे दी गई है। उस भाजपा के नेता अब किसानों के नाम से मात्र घड़ियाली आंसू बहा रहे है

 

 

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार मोदी सरकार के किसान विरोधी चरित्र को भांप कर राजीव गांधी किसान न्याय योजना शुरू की है जिसके माध्यम से किसानों को 2500 रू. की अंतर की राशि दी जा रही है। अब तक किसानों के खाते में 4500 करोड़ रुपए अंतर की राशि पहुंच चुकी है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि किसानों से धान 2500 रू. प्रति क्विंटल में खरीदी पर मोदी सरकार द्वारा लगाई गई नियम शर्ते में छूट की मांग पर भाजपा सांसदों ने किसी प्रकार का सहयोग नही किया। और यही भाजपा के नेता कहते थे क्या छत्तीसगढ़ का किसान देश के किसानों से अलग है? क्या उनके लिए अलग से नियम बनाया जाए? आज वही भाजपा के नेता किसानों को धान की 2500 रू. की अंतर राशि कैसे मिलेगी पूछ रहे हैं? भाजपा के नेता अपने किसान विरोधी कृत्यों पर ध्यान दें छत्तीसगढ़ का किसान भाजपा नेताओं के चाल चरित्र को पहचान चुका है। किसानों को धान की कीमत 2500 रू. ही मिलेगा।

 

Related posts

Leave a Comment