मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार किसानों को धान की कीमत 2500 रु क्विं दे रही है तो भाजपा नेताओं के पेट मे दर्द हो रहा–धनंजय सिंह ठाकुर

 

 

पूर्व मंत्री एवं विधायक बृजमोहन अग्रवाल के बयान पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया

 

2500 रु प्रति क्विंटल की दर से किसानों के धान खरीदी का विरोध करने वाले भाजपा के नेता किसानों के नाम से घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं

 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार किसानों को धान की कीमत 2500 रु क्विं दे रही है तो भाजपा नेताओं के पेट मे दर्द हो रहा

 

भाजपा नेताओं को किसानों की नही बल्कि पूंजीपतियों के गोडाउन और तिजोरी कैसे भरे इसकी चिंता है

 

 

 

 

रायपुर। पूर्व कृषि मंत्री एवं भाजपा नेता बृजमोहन अग्रवाल के बयान पर कांग्रेस ने प्रतिक्रिया व्यक्त की प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के 2500 रु क्विं के दाम में किसानों के धान खरीदी का विरोध करने वाले भाजपा के नेता किसान हितैषी होने का ढोंग कर रहे है। पूर्व मंत्री एवं विधायक बृजमोहन अग्रवाल कृषि मंत्री रहते कभी किसानों की सुध नही ली किसानों से किये वादा को पूरा करने किसानों की आर्थिक हालत को सुधारने कर्ज मुक्त बनाने कभी काम नही किया अब विपक्ष में आते ही किसानों की चिंता करने का राजनीति कर रहे है।पूर्व मंन्त्री बृजमोहन अग्रवाल को वास्तविक में किसानों की चिंता है तो मोदी सरकार से वादानुसार स्वामीनाथन कमेटी के सिफारिश के अनुसार लागत मूल्य का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य दिलाये।छत्तीसगढ़ से सेंट्रल पुल में 60 लाख मीट्रिक टन चावल नही वल्कि जितनी मात्रा में धान खरीदी होगी उसी अनुपात में चावल लेने की मांग करे।भाजपा किसानों के धान खरीदी के नाम से मात्र राजनीति कर रही हैं असल मे भाजपा को किसानों की नही बल्कि अपनी खिसकती राजनीतिक धरातल की चिंता है।सरकार में रहते रमन भाजपा ने किसानों से कभी 60-70 लाख मीट्रिक टन से ज्यादा धान की खरीदी नही की। उस दौरान किसान बिचौलियों को औने पौने दाम में धान बेचने मजबूर रहते थे।पड़ोसी राज्यों से तस्करी कर भाजपा समर्थित बिचौलिए सरकारी धान खरीदी केंद्रों में धान बेचा करते थे और किसानों के हक अधिकार के समर्थन मूल्य की राशि को डकार जाते थे।रमन सिंह ने किसानों को वादानुसार धान का समर्थन मूल्य 2100रु एवं 300 रु बोनस प्रति क्विंटल नही दिया।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि पूर्व कृषि मंत्री और विधायक बृजमोहन अग्रवाल को असल में किसानों की चिंता नहीं है बल्कि उन्हें पूंजीपति के गोडाउन और तिजोरी कैसे भरें इस बात की चिंता ज्यादा सता रही है।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के धान खरीदी में अवरोध पैदा करने में भाजपा असफल हो गई है।भाजपा अब मोदी सरकार के तीन काला कानून के तहत जो पूंजीपतियों को किसानों के शोषण करने किसानों को गुलाम बनाने का अधिकार दी है वह कैसे सफल हो इस बात को लेकर चिंतित हैं।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार किसानों को धान की कीमत 2500रु क्विंटल दे रही है। तो भाजपा नेताओं के पेट में दर्द हो रहा है।भाजपा नेता नहीं चाहते कि किसान आर्थिक रूप से सक्षम बने।किसानों को पूंजीपतियों के गुलाम बनाने की सोच रखने वाले भाजपा के नेता अब किसानो के नाम से घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं। इस वर्ष 19 लाख से अधिक किसानों से प्रति एकड़ 15 क्विंटल धान 2500 रु प्रति क्विंटल की दर से खरीदा जाएगा इस वर्ष 85 लाख मैट्रिक टन से अधिक धान खरीदी करने का लक्ष्य रखा गया है।

 

 

Related posts

Leave a Comment