रेलवे की मनमानी, पर्व स्पेशल और क्लोन ट्रेनों में यात्रियों से वसूल रहे 30 फीसदी अधिक किराया

त्योहार के समय आम लोगों को राहत देने के लिए रेलवे की ओर से क्लोन स्पेशल व पर्व स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही हैं।इन ट्रेनों में यात्रियों को पहले की तुलना में 25 से 30 फीसदी अधिक किराया देना पड़ रहा है।जबकि इन ट्रेनों में अमूमन सामान्य व मध्यम वर्ग के यात्री ही आ-जा रहे हैं।

 

पर्व स्पेशल ट्रेनों में पटना से नई दिल्ली के लिए स्लीपर क्लास के लिए 650 रुपये लग रहे हैं, जबकि दूसरी ट्रेनों में पटना से नई दिल्ली का किराया महज 510 रुपये है।इसी तरह सभी पर्व स्पेशल ट्रेनों में पहले से चल रही ट्रेनों की तुलना में 30 प्रतिशत तक अधिक किराया वसूला जा रहा है।

 

क्लोन ट्रेनें भी चलायी जा रहीं

 

पटना जंक्शन के आरक्षण कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार कोरोना काल में ट्रेनों की संख्या कम होने व यात्रियों की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए रेलवे ने पर्व स्पेशल ट्रेनें चलाई हैं।जिन ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट लंबी हो रही थी, उसके लिए क्लोन ट्रेनें चलाई गई हैं lपटना जंक्शन, राजेंद्र नगर टर्मिनल व पाटलिपुत्र जंक्शन समेत पूर्व मध्य रेल के प्रमुख स्टेशनों से अभी कुल 60 जोड़ी पर्व व क्लोन स्पेशल ट्रेनें चल रही हैं।

 

लेकिन इन ट्रेनों में सफर करने वालों की जेबें ढीली हो रही हैं।

 

पर्व स्पेशल ट्रेन में शयनयान श्रेणी, 3 एसी और 2 एसी में प्रति टिकट 150 रुपये से लेकर 450 रुपये अधिक देने पड़ रहे हैं।वहीं, पटना से मुंबई के लिए पर्व स्पेशल व क्लोन ट्रेनों में शयनयान श्रेणी के लिए 920 रुपये लग रहे हैं, जबकि दूसरी ट्रेनों में इसका किराया 670 रुपये है।

 

यानी एक यात्री से प्रति टिकट 250 रुपये अधिक लिए जा रहे हैं।

 

इसी तरह बेंगलुरु के लिए पर्व स्पेशल के स्लीपर क्लास का टिकट दूसरे ट्रेन की तुलना में 185 रुपये अधिक है।यात्रियों का कहना है कि रेलवे मनमाने ढंग से यात्रियों से पैसे की वसूली कर रहा है। रेलवे व सरकार को आम लोगों की चिंता नहीं है।

 

पूर्व मध्य रेल में 60 जोड़ी क्लोन-पर्व स्पेशल ट्रेन

 

पूर्व मध्य रेल मुख्यालय से मिली जानकारी के अनुसार पूर्व मध्य रेल में मंगलवार से कुल 48 जोड़ी ट्रेनों का परिचालन शुरू हो रहा है।इसमें से पूर्व मध्य रेल की ट्रेन के अलावा फॉरेन ट्रेन व पासिंग ट्रेनें शामिल हैं। वहीं, 12 जोड़ी क्लोन स्पेशल ट्रेनों का परिचालन भी हो रहा है।पर्व स्पेशल में 13 जोड़ी ट्रेन पूर्व मध्य रेल की है। 18 जोड़ी ट्रेनें दूसरे जोन की हैं जो यहां के स्टेशनों पर पहुंचेंगी व खुलेंगी।

 

वहीं, 17 जोड़ी ट्रेनें पासिंग हैं जिनका केवल पूर्व मध्य रेल के स्टेशनों पर ठहराव होगा। वहीं, पांच जोड़ी क्लोन स्पेशल ट्रेन पूर्व मध्य रेल व पांच जोड़ी फॉरेन की हैं। दो जोड़ी पासिंग ट्रेनें हैं।

 

ऐसे लिया जा रहा अधिक किराया

 

स्पेशल ट्रेन पर्व स्पेशल

 

स्थान स्लीपर 3 एसी 2 एसी स्लीपर 3 एसी 2 एसी

 

नई दिल्ली 510 1300 1910 650 1710 2320

 

मुंबई 670 1795 2600 920 2315 3225

 

बेंगलुरु 910 2355 3435 1095 2745 3885

 

सिकंदराबाद 745 1945 845 2205

 

हावड़ा 350 915 1280 435 1165 1615

Related posts

Leave a Comment