परिजनों का आरोप- लाश के साथ छेड़छाड़, बॉडी का अंग निकालने की आशंका – छत्तीसगढ़ में कोरोना से एक व्यक्ति की मौत पर मचा बवाल

छत्तीसगढ़ के डोंगरगांव में उस समय बवाल मच गया कोरोना से युवक की मौत के बाद जब शव को परिवार वालों ने देखा तो परिवार ने कहा कि मृतक की लाश से छेड़छाड़ किया गया है । दरअसल बवाल उस समय मचा जब अंतिम संस्कार के दौरान परिवार वालों को शव देखने की इजाजत दी गई।

 

डोंगरगढ़ निवासी मृतक के बॉडी से अंग निकाले जाने की आशंका व्यक्त करते हुए परिजनों ने मुक्तिधाम में ही हंगामा करना शुरू कर दिया ।इसके चलते लगभग एक घंटे तक अंतिम संस्कार का कार्य रूक गया। पुलिस व प्रशासन की समझाईश के बाद मामला शांत हुआ और तब जाकर अंतिम संस्कार किया गया l बता दें कि नगर के सेवताटोला वार्ड के एक युवक की तबियत बीते सप्ताह खराब हो गई थी, जिसे उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती किया गया था।

 

तबियत बिगडने के कारण मृतक को रायपुर मेकाहारा रेफर किया गया था, जहां वह कोरोना पॉजिटिव पाया गया। उपचार के दौरान शुक्रवार को उसका निधन हो गया, जिसका शव शनिवार दोपहर रायपुर से आने के पश्वात अंतिम संस्कार की कार्रवाई जारी थी।इसी बीच मृतक के शव से खून निकलता देख युवक की पत्नी व उसके परिजनों ने मृतक के अंगों को निकाले जाने अथवा अन्य किसी प्रकार के छेड़छाड़ की आशंका व्यक्त कर शव को निरीक्षण किए जाने की मांग करने लगे।

 

शुरूवाती दौर में ही गाइडलाइन के अनुसार कोविड पॉजिटिव होने के कारण मृतक के शव को सेफ्टी किट से बाहर निकाला जाना संभव नहीं बताया गया, जिसके चलते विवाद और भी गहराने लगा था कि तभी स्वास्थ्य विभाग व पुलिस के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंचे।जिनकी समझाइश व प्रथम दृष्टया अवलोकन उपरांत मृतक के नाक से रक्त स्त्राव पाए जाने पर मामला शांत हुआ। इस दौरान नपं अध्यक्ष हीरा निषाद, नायब तहसीलदार राजपूत, टीआई केपी मरकाम व उनकी टीम तथा स्वास्थ्य विभाग का अमला उपस्थित रहे।

Related posts

Leave a Comment