वन मंत्री मो.अकबर ने भाजपा की चुनौती को किया स्वीकार,कहा- समय और स्थान तय कर बता दें

रायपुर। मंंत्री मो.अकबर ने कृषि कानून पर बहस की भाजपा की चुनौती को स्वीकार किया है। मो.अकबर ने कांग्रेस के वर्चुअल सम्मेलन में शनिवार को भाजपा की चुनौती पर बड़ा बयान दिया है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय और भाजपा की चुनौती को मंत्री मो. अकबर ने स्वीकार किया है। मो.अकबर ने कहा है कि भाजपा समय और स्थान तय कर बता दें। मुझे खुली बहस की चुनौती स्वीकार है।बता दें कि केंद्र सरकार की ओर से लाए गए कृषि कानून के विरोध में शनिवार को कांग्रेस ने वर्चुअल सम्मेलन का आयोजन किया। प्रदेश भर में 320 स्क्रीन के माध्यम से हर जगह बड़ी संख्या में किसान, मजदूर और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। 67 हजार 800 लोगों ने मोबाइल और लेपटॉप के माध्यम से व्यक्तिगत रूप से वर्चुअली देखा। वर्चुअल किसान मजूदर बचाओ सम्मेलन में जुड़े और मोदी सरकार के कृषि कानूनों का विरोध किया। सम्मेलन में केन्द्र सरकार के कानूनों के विरोध पर एक पुस्तिका का विमोचन किया गया। इस पुस्तिका में उन सभी सवालों के जवाब है जो किसानों, मजदूरों और आम जनता में उठ रहे हैं।प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने अपने उद्घाटन भाषण में कहा कि ऐसे कानून का हम सब करते हैं, जिसमें किसानों के हित को नकार दिया गया है। देश और प्रदेश में औद्योगिक विकास जरूरी है, पर अन्नदाताओं की बलि देने वाले काले कानून को स्वीकार नहीं किया जा सकता। मरकाम ने कहा कि मोदी सरकार का यह कानून किसानों को बंधवा मजदूर गुलाम बना देगा।एआईसीसी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया ने आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार की ओर से लाए गए काले कानून दरअसल, अडानी और अंबानी के दफ्तर में बैठकर बनाया गया है। अडानी-अंबानी के यहां से सीधे बिल पेश कर दिया गया। यह कानून किसानों के लिए नहीं उद्योगपतियों के लिए है। इस बिल में उद्योगपतियों के हित को साधने का काम किया गया है, तो देश के किसानों को मुसीबत में डालने की योजना तैयार की गई है। पुनिया ने कहा कि देश को धोखे में रखकर यह बिल पारित कराया गया है। इस कानून का आरएसएस, एनडीए के घटक दल सहित भाजपा शासित राज्य हरियाणा के मुख्यमंत्री ने भी विरोध किया है।किसान मजदूर बचाओ सम्मेलन को मंत्री टीएस सिंहदेव, मंत्री ताम्रध्वज साहू, मंत्री रविन्द्र चौबे, मंत्री डॉ.शिवकुमार डहरिया, मंत्री कवासी लखमा, मंत्री अमरजीत भगत,राज्यसभा सांसद फूलोदेवी नेताम ने भी संबोधित किया। किसान मजदूर बचाओ सम्मेलन में मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह, मंत्री जयसिंह अग्रवाल, मंत्री गुरू रूद्रकुमार, सांसद छाया वर्मा भी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन मुख्यमंत्री के सलाहकार राजेश तिवारी और आभार प्रदर्शन प्रभारी महामंत्री संगठन चंद्रशेखर शुक्ला ने किया।

Related posts

Leave a Comment