आॅनलाईन क्लासेस से वंचित कर देने की धमकी देकर दबावपूर्वक फीस वसूलने को लेकर शिकायत

 

पुलिस में प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के खिलाफ शिकायत दर्ज

 

रायपूर। निजी स्कूलों के मनमाने रवैये और ज्यादतियों को लेकर प्रदेश भर में शिकायतों का शोर है शायद जिम्मेदार लोगों के कानों तक यह पहुंच नहीं रहा या फिर कान ही बंद है या फिर निजी स्कूल जिन्हें लेकर शिकायतें आ वे बहुत ताकतवर है यह तो अभी सवाल ही है पर इतना है कि आये दिन इस तरह की शिकायतें सामने आ रही है ऐसा ही एक मामला सामने आया है जिसमें छत्तीसगढ़ प्रायवेट स्कूल मैनेजमेंट एसोसियेशन, रायपूर के द्वारा 31 अगस्त को पत्र जारी कर 8 सिंतबर तक फीस जमा नही करने वाले बच्चों की आॅनलाईन क्लासेस बंद करने की बात कही गई है बताई जा रही जिसे लेकर गुरूवार को छत्तीसगढ पैरेंट्स एसोसियेशन ने सिटी कोतवाली रायपुर और बाल अधिकार संरक्षण आयोग रायपुर में लिखित शिकायत कर छत्तीसगढ़ प्रायवेट स्कूल मैनेजमेंट एसोसियेशन, रायपूर के अध्यक्ष मुकेश शाह और सचिव राजीव गुप्ता पर तत्काल एफआईआर दर्ज करने की मांग किया गया है।

एसोसियेशन की प्रदेश सचिव कीर्ति चावड़ा का कहना है कि छत्तीसगढ़ प्रायवेट स्कूल मैनेजमेंट एसोसियेशन, रायपूर के द्वारा तिथि निर्धारित कर बच्चों को आॅनलाईन क्लासेस से वंचित कर देने की धमकी देकर दबावपूर्वक फीस वसूलने का प्रयास किया जा रहा है, जो मा. उच्च न्यायालय बिलासपूर के निर्णय 9 जुलाई 2020 और निःशुल्क और अनिवार्य शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 की धारा 16 का स्पष्ट उल्लघंन है।

छत्तीसगढ़ प्रायवेट स्कूल मैनेजमेंट एसोसियेशन, रायपूर के इस प्रकार की धमकी-चमकी से जिले में कानून व्यवस्था बिगड़ सकती है।

कीर्ति चावड़ा का कहना है कि कोई भी प्रायवेट स्कूल किसी भी प्रवेशित बच्चे को किसी भी परिस्थिति में शिक्षा से वंचित नही कर सकता है। यदि कोई भी प्रायवेट स्कूल बच्चों को किसी भी प्रकार से जानबूझकर प्रताड़ित करता है, जानबूझकर अनावश्यक मानसिक कष्ट देता है, किसी प्रकार से जानबूझकर उसकी उपेक्षा करता है तो यह किशोर न्याय(बालकों की देखरेख और संरक्षण) अधिनियम 2015(अधिनियम क्रमांक 2 सन् 2016) की धारा 75 और 86 के अंतर्गत गंभीर प्रवृति का अपराध है। पुलिस प्रशासन और आयोग ने इस मामले को बहुत गंभीरता से लिया है और जल्द छत्तीसगढ़ प्रायवेट स्कूल मैनेजमेंट एसोसियेशन, रायपूर के अध्यक्ष मुकेश शाह और सचिव राजीव गुप्ता को नोटिस जारी कर पूछताछ किया जाएगा।

Related posts

Leave a Comment